रेलवे स्टेशन के नाम के आखिर में क्यों लिखा होता है जंक्शन, टर्मिनल और सेन्ट्रल?

86

भारत के रेलवे नेटवर्क को दुनिया में चौथे सबसे बड़े रेलवे नेटवर्क का दर्ज़ा मिला हुआ है.

भारत का रेलवे ट्रैक 92,081 किलोमीटर लम्बाई तक फैला हुआ है जो देश के एक राज्य को दूसरे राज्य से जोड़ता है. आंकड़ों की माने तो भारत की ट्रेन एक दिन में तकरीबन 66,687 किलोमीटर की दूरी तय करती है, लेकिन आपमें से ऐसे बहुत से लोग होंगे जिन्हें ये नहीं पता होता कि रेलवे स्टेशनों के आखिर में जंक्शन, सेंट्रल और टर्मिनल क्यों लिखा जाता है? तो चलिए आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि आखिर क्यों लिखा जाता है जंक्शन, सेंट्रल और टर्मिनल.

रेलवे स्टेशन के आखिर में क्यों लिखा होता है टर्मिनल?
आपको बता दें कि रेलवे स्टेशनों के आखिर में टर्मिनल क्यों लिखा होता है? दरअसल टर्मिनल का अर्थ होता है कि आगे कोई भी रेलवे ट्रैक मौजूद नहीं हैं. मतलब ट्रेन जिस दिशा से आई है वो वापस उस दिशा में ही लौट जायेगी. टर्मिनल को टर्मिनस के नाम से भी जाना जाता है. आपको शायद न पता हो कि भारत के लगभग 27 रेलवे स्टेशनों पर ऐसा लिखा हुआ है. बात की जाए देश के सबसे बड़े टर्मिनल की तो छत्रपति शिवाजी टर्मिनल और लोकमान्य तिलक टर्मिनल देश के दो सबसे बड़े टर्मिनल है.

पढ़ें – ट्रेन का टिकट न होने पर टीटी पकड़ ले तो घबराये नहीं करे ये काम

रेलवे स्टेशन के आखिर में क्यों लिखा होता है सेंट्रल?
आपको बता दें रेलवे स्टेशन के आखिर में सेंट्रल क्यों लिखा जाता है? रेलवे स्टेशन के आखिर में सेंट्रल लिखे होने का अर्थ ये होता है कि उस शहर में एक से ज्यादा रेलवे स्टेशन है और वो उस जगह का सबसे पुराना रेलवे स्टेशन भी होता है. इसके अलावा रेलवे स्टेशन के आखिर में सेंट्रल लिखे होने का एक और मतलब होता है वो है ये उस शहर का सबसे ज्यादा बिजी रहने वाला रेलवे स्टेशन है. आपको बता दें कि भारत में चेन्नई सेंट्रल त्रिवेंद्रम सेंट्रल, मुंबई सेंट्रल, कानपुर सेंट्रल सबसे मुख्य सेंट्रल स्टेशन है.

रेलवे स्टेशन के आखिर में क्यों लिखा होता है जंक्शन?
आपको बता दें कि बहुत से रेलवे स्टेशनों के आखिर में जंक्शन क्यों लिखा जाता है? किसी भी स्टेशन के आखिर में जंक्शन लिखे होने का अर्थ ये होता है कि उस स्टेशन में रेल के आने जाने के लिए तीन से भी ज्यादा रास्ते बने हुए हैं. जिसका अर्थ ये हुआ कि ट्रेन एक रास्ते से आ सकती है और दोनों में से किसी भी रास्ते से जा सकती है. इसलिए स्टेशन के आखिर में जंक्शन लिखा जाता है. हमारे देश में फ़िलहाल बरैली जंक्शन (5 रुट्स) मथुरा जंक्शन (7 रुट्स), विजयवाड़ा जंक्शन (5 रुट्स ), सालेम जंक्शन (6 रुट्स ) जंक्शन मौजूद है.

Source thenewscafe

Leave A Reply

Your email address will not be published.