चाची ने ली चार साल की मासूम जान, गला रेतकर की हत्या

100

गांव मांडखेड़ी में एक औरत ने अपनी चार साल की भतीजी का चाकू से गला रेत दिया। रविवार देर शाम जिस समय यह घटना हुई, उस समय बच्ची की मां रसोई में दूध गरम करने के लिए गई थी। घर में अन्य सभी सदस्य भी थे। पकड़े जाने पर आरोपी औरत ने बड़ा हि अजीब तर्क दिया। कहने लगी की-मुझे नहीं पता अचानक से मेरे अंदर क्या आ गया था। मुझे जब होश आया तो बाद में पता चला कि बच्ची की हत्या हो गई है। जगाधरी सदर थाना प्रभारी नवीन के अनुसार आरोपी औरत को हिरासत में ले लिया गया है। हत्या में इस्तेमाल किया गया छुरा बरामद कर लिया। मांडखेड़ी निवासी विजय बिजली निगम में कॉन्ट्रेक्ट पर काम करता है। विजय ने बताया – उसके छोटे भाई जयकुमार की शादी काबुलपुर गांव में पुजा के साथ हुई थी। उसकी शादी को 8 साल हो गये है है! 27 अप्रैल को पुजा अपने मायके गई हुई थी। तीन दिन पहले पता चला था कि पुजा पर तंत्र मंत्र (भुत-प्रेत) का साया है। जिसके चलते जयकुमार पुजा को अपने साथ वापस घर ले आया। रविवार की शाम को करीब पौने सात बजे उसकी पत्नी रजनी बच्चों के लिए दूध गर्म करने के लिए रसोई में हुई थी। इस दौरान उनकी बेटी नंदनी कमरे में थी।

रजनी ने शोर सुना, तो वह कमरे की ओर दौड़ी, तो उसे पुजा हाथ में छुरा लिए खड़ी थी। नंदनी लहुलुहान हालत में नीचे पड़ी हुई थी। रजनी को देख कर पुजा भागने लगी। नंदनी को ट्रामा सेंटर ले जाया गया जहां पर उसे मृत घोषित कर दिया।

विजय की तीन बेटियां थी उसके बाद जुड़वां बेटा-बेटी हुए। इनमें से एक नंदनी थी। विजय की भाभी पुजा के पास भी एक बेटा और एक बेटी हैं। पुजा की बेटी भी नंदनी की ही उम्र की है। विजय का कहना है कि परिवार में कभी कोई लड़ाई झगडा नहीं हुआ न ही एक दूसरे के बच्चों से कोई आपसी रंजिश रखता था। उसकी भाभी ने जो वारदात की है उसे यकीं नही हो रहा!