राहुल गांधी को EC का नोटिस: पूछा- आचार संहिता तोड़ने पर आपके खिलाफ कार्रवाई क्यों ना हो

26

नई दिल्ली. गुजरात में दूसरे फेज की वोटिंग से ठीक एक दिन पहले राहुल गांधी के टीवी इंटरव्यू पर विवाद खड़ा हो गया। बीजेपी ने राहुल पर इलेक्शन का कोड ऑफ कंडक्ट तोड़ने का आरोप लगाते हुए इलेक्शन कमीशन से शिकायत की। देर रात इलेक्शन कमीशन ने राहुल को नोटिस जारी कर पूछा- स्पष्ट करें कि मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट (आदर्श आचार संहिता) तोड़ने पर आपके खिलाफ कार्रवाई क्यों ना की जाए? राहुल को 18 दिसंबर की शाम पांच बजे तक जवाब देने को कहा गया है। राहुल के बचाव में दलील देने के लिए कांग्रेस के कई नेता बुधवार रात करीब 9 बजे इलेक्शन कमीशन पहुंचे।

कांग्रेस ने क्या कहा?

– चुनाव आयोग पहुंचे कांग्रेस नेताओं ने मीडिया से बातचीत की। पार्टी के नेशनल स्पोक्सपर्सन रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा- चैनलों का दमन किया गया है। 2014 में मोदी ने कई चैनलों को इंटरव्यू दिया। बीजेपी का सिंबल दिखाया था। तब चुनाव अयोग ने कोई कार्रवाई नहीं की। अमित शाह ने आज इंटरव्यू दिया। पीयूष गोयल ने दो-दो प्रेस कॉन्फ्रेंस कीं। पीएम फिक्की के प्रोग्राम में राजनीतिक भाषण देते हैं। प्रेस की आवाज को नहीं दबाया जाना चाहिए। दोहरे मापदंड नहीं चलेंगे। सबसे पहले पीएम पर कार्रवाई होनी चाहिए।

राहुल ने क्या कहा था?

– इंटरव्यू में राहुल ने दावा किया था कि गुजरात इलेक्शन में कांग्रेस की एकतरफा जीत होगी। उन्होंने कहा था- गुजरात का सेंटिमेंट बदल गया है। हमें भरोसा है कि कांग्रेस पार्टी गुजरात का चुनाव जीतने वाली है। इस इंटरव्यू से एक दिन पहले राहुल ने कांग्रेस प्रेसिडेंट के तौर पर अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी। इसमें भी राहुल ने कहा था कि गुजरात के नतीजे चौंकाने वाले होंगे।

इंटरव्यू में और क्या-क्या कहा?

1) जनता से पूछकर मेनिफेस्टो बनाया                                                                                        – राहुल ने कहा, “इस बार गुजरात में लोगों में बीजेपी को लेकर काफी गुस्सा है। जो विजन बीजेपी को देना था, वो मोदी जी नहीं दे पाए। मुझे लगता है कि कांग्रेस पार्टी गुजरात में चुनाव जीतने वाली है। हमने गुजरात की जनता और हर वर्ग से पूछकर मेनिफेस्टो बनाया। हमने एक विजन दिया है और ये हमारा नहीं गुजरात की जनता का विजन है।”

2) पूरी तरह एकतरफा चुनाव होगा                                                                                             – “हम पूरी तरह कॉन्फिडेंट हैं कि ये एकतरफा चुनाव होगा। ये 92 की बात नहीं है, ये पूरी तरह एकतरफा होगा। गुजरात में सेंटिमेंट अब बदल गया है।’

3) मोदी जी स्पीच में आधा वक्त कांग्रेस को देते हैं                                                                         – “कांग्रेस पार्टी एक पुरानी विचारधारा है। हिंदुस्तान में प्यार को, भाईचारे को सबको एक साथ ले जाने की विचारधारा है। इसे हिंदुस्तान से मुक्त किया ही नहीं जा सकता है। अगर कांग्रेस मुक्त भारत हो गया है तो मोदी जी अपने भाषण में आधा वक्त कांग्रेस को क्यों देते हैं। मुझे लगता है कि आजकल जिस तरह से बात की जाती है, वो देश को शोभा नहीं देता है। हमारी विचारधाराएं अलग हैं, लेकिन बात तमीज से होनी चाहिए, प्यार से होनी चाहिए।”

4) PM के खिलाफ गलत शब्द बर्दाश्त नहीं                                                                                  – “प्रधानमंत्री जी हिंदुस्तान के रिप्रेंजेंटेटिव हैं, उस पद का आदर करना है। मैंने क्लियर मैसेज भेजा है। मणिशंकर जी ने जो बोला वो मेरे लिए एक्सेप्टेबल नहीं है। मैंने उनसे कह दिया कि इस तरीके से कांग्रेस में नहीं बोला जा सकता। हमारे डिफरेंसेज हैं पीएम से, वो हमारे बारे में जैसे भी बोलें, वो उनके ऊपर है.. हम नहीं बोलेंगे। मनमोहन सिंह जी ने पीएम को बहुत अच्छा जवाब दिया कि मैं हिंदुस्तान का पीएम रहा हूं। पूरी जिंदगी मैंने हिंदुस्तान के लिए दी है और एक्स प्राइममिनिस्टर के बारे में इन शब्दों का इस्तेमाल और इस तरीके से बोलना सही नहीं है।’

5) नतीजों से बीजेपी सरप्राइज हो जाएगी                                                                                     – “तीन-चार महीनों से मैं गुजरात का मूड देख रहा हूं। टेम्पो बढ़ता ही जा रहा है। मैं काफी कॉन्फिडेंट हूं और बीजेपी सरप्राइज हो जाएगी।”

 

Source Bhaskar

Leave A Reply

Your email address will not be published.