एथिकल हैकर कैसे बने, यहाँ पढ़ें पूरी जानकारी

138

एथिकल हैकर(Ethical Hacker) किसी कंपनी, संस्था या निजी व्यक्ति की वेबसाइट या अन्य ऑनलाइन प्लेटफॉर्म को हैकिंग से सुरक्षित रखने की दिशा में काम करते हैं। अपनी स्किल और क्रिएटिविटी का इस्तेमाल करके ये प्रोफेशनल ऑनलाइन प्लेटफॉर्स को साइबर क्राइम का शिकार होने से बचाते हैं। हर स्तर पर इंटरनेट के बढ़ते उपयोग को देखते हुए आज के समय में एथिकल हैकर के रूप में कॅरिअर बनाने के कई अवसर सामने आए हैं। ऐसे में यदि आपका इंटरेस्ट कम्प्यूटर व ऑनलाइन की दुनिया में है तो निश्चित रूप से ये आपके लिए बेहतर कॅरिअर ऑप्शन हो सकता है।

12वीं के बाद के विकल्प
यदि आप एथिकल हैकिंग में कॅरिअर बनाना चाहते हैं तो आप 12वीं के बाद बीसीए इन कम्प्यूटर साइंस, बैचलर इन कम्प्यूटर साइंस, बीटेक इन कम्प्यूटर साइंस, एमसीए इन साइबर सिक्योरिटी, एमएससी इन साइबर सिक्योरिटी के अलावा सर्टिफिकेशन कोर्स सीईएच, सीएचएफआई, सीआईएसएसपी जैसे कोर्स कर सकते हैं।

ये हैं टॉप इंस्टीट्यूट्स
आईआईआईटी हैदराबाद, आईआईटी गुवाहाटी, आईआईआईटी इलाहाबाद के अलावा मान्यता प्राप्त हैकिंग संस्थान जैसे ईसी काउंसिल, एनआईआईटी, ओडैक नेटवर्क, डीयूसीएटी जैसे इंस्टीट्यूट से आप एथिकल हैकिंग की पढ़ाई कर सकते हैं।

सरकारी क्षेत्र में जॉब के मौके
अपना ऑनलाइन डेटा सेफ रखने के लिए अब ज्यादातर सरकारी संस्थान एथिकल हैकर्स को नियुक्त कर रहे हैं। सेना, सरकारी लॉ एजेंसी, डिफेंस ऑर्गनाइजेशन, फॉरेंसिक लैबोरेट्री, डिटेक्टिव कंपनी के अलावा सीबीआई, एनएसए, एफबीआई में भी इन प्रोफेशनल्स को हायर किया जाता है।

प्राइवेट सेक्टर में भी है मांग
निजी क्षेत्र में मांग को देखते हुए कुशल एथिकल हैकर्स की उपलब्धता काफी कम है। इंफोसिस, आईबीएम, टीसीएस, टेक महिंद्रा, एचसीएल, सोनाटा, डेल, एप्पल, लेनोवो आदि में नेटवर्क सिक्योरिटी मैनेजर, सिक्योरिटी एडमिनिस्ट्रेटर, सिक्योरिटी एग्जीक्यूटिव, वेब एडमिनिस्ट्रेटर, वेब सिक्योरिटी मैनेजर की मांग की जाती है।