क्या आप जानते है फटे और पुराने तिरंगे का क्या किया जाता है !

51

राष्ट्रिय ध्वज यानी तिरंगे के बारे में हर भारतीय को पता होगा लेकिन बहुत कम भारतीय लोगो को तिरंगे के फ़हराने के नियम पता है लोगो इस बारे में जानकारी नहीं होती कि फटे और पुराने तिरंगे का क्या किया जाता है. तिरंगा भारत के राष्ट्रिय के गौरव का प्रतीक है.

बता दे कि पहले आम लोगो को केवल स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्रता दिवस के मौके पर ही तिरंगा फ़हराने की छूट थी इसके अलावा कोई अपने घर या गाड़ी में तिरंगा नहीं लगा सकता था लेकिन साल 2002 में इंडियन फ्लेग कोड में संसोधन किया गया था जिसके बाद कोई भी नागरिक किसी भी दिन तिरंगा झंडा फ़हरा सकता है.

इसके अलावा सभी लोगो को अपने घर, ऑफिस या गाड़ियों में तिरंगा लगाने की छूट मिल गयी है. वैसे आज हर किसी के दफतर में आपको तिरंगा झंडा देखने मिल जायेगा लेकिन आज भी बहुत कम लोग तिरंगे से जुड़े नियम जानते हैं. तिरंगा काफी पुराना हो जाए तो उसका क्या करना है ये भी काफी लोगो को पता होता है.

आपको बता दे कि फ्लेग कोड ऑफ़ इंडिया के तहत फटा या गन्दा तिरंगा झंडा फहराना अपराध है अगर कोई ऐसा करता है तो उसे 3 साल की सजा हो सकती है. अगर झंडा फट जाए या पुराना हो जाए तो इसके लिए भी नियम बनाये गए है. फ्लेग कोड ऑफ़ इंडिया के तहत फटे या पुराने झंडे को एकांत में जला देना चाहिए या किसी दूसरे तरीके से नष्ट कर देना चाहिए ताकि तिरंगे की गरिमा बनी रहे. तिरंगे झंडे को पवित्र नदी में जल समाधि भी दी जा सकती है.

शहीदों पर चढ़ाये गए झंडे का क्या किया जाता है
आपने कई बार देखा होगा कि जब कोई सैनिक शहीद हो जाता है तो उसके पार्थिव शरीर पर तिरंगा झंडे को चढ़ाया जाता है लेकिन आप ये नहीं जानते होंगे कि बाद में उस तिरंगे झंडे का क्या किया जाता है. आपको बता दे कि शहीदों के पार्थिव शरीर से उतारे गए झंडे को भी गोपनीय तरीके से सम्मान के साथ जला दिया जाता है या नदी में जल समाधि दे दी जाती है.

किसी भी दूसरे झंडे को राष्ट्रिय तिरंगे झंडे से ऊपर या ऊँचा नहीं लगा सकते और न ही बराबर पर लगा सकते हैं राष्ट्रिय ध्वज देश का गौरव होता है इसलिए न केवल इसे फ़हराने के नियम बने है बल्कि झंडे को कैसे नष्ट किया जाए इसके लिए भी नियम है जिनका हर किसी को पालन करना चाहिए.

Source makehindi

Leave A Reply

Your email address will not be published.