शशि कपूर को पाकिस्तान के पेशावर में दी गई श्रद्धांजलि

34

शशि कपूर साहब को देशभर में श्रद्धांजलि दी जा रही है. भारत ही नहीं, पाकिस्तान में भी उनकी फैन फॉलोइंग थी. इसका उदाहरण है कि मंगलवार को पाकिस्तान के पेशावर में उन्हें श्रद्धांजलि दी गई.

सोमवार को शाम पांच बजे मशहूर अभिनेता शशि कपूर का निधन हो गया था. मंगलवार को मुंबई में उनका अंतिम संस्कार किया गया था. देशभर में उन्हें लोगों ने याद किया और श्रद्धांजलि दी. पाकिस्तान के पेशावर में भी मोमबत्त‍ियां जलाकार उनके फैन्स ने उन्हें याद किया. बता दें कि शशि कपूर का परिवार पेशावर से ही पलायन कर भारत आया था. कपूर परिवार का पुराना मकान, जो पेशावर के ओल्ड सिटी में किस्सा खवानी बाजार में स्थ‍ित है, शशि कपूर के दादा ने 1918 में बनवाया था.

मंगलवार को राजकीय सम्मान के साथ सीनियर एक्टर शशि कपूर का दोपहर सांताक्रूज में अंतिम संस्कार कर दिया गया. इस दौरान राजनीति और फिल्म जगत की कई हस्तियां मौजूद थीं. शशि कपूर 70 और 80 के दशक के मशहूर रोमांटिक स्टार थे. सोमवार शाम को मुंबई के कोकिलाबेन अस्पताल में इलाज के दौरान उनका निधन हो गया था. वो 79 वर्ष के थे.

शशि कपूर की याद में 7 दिसंबर को पृथ्वी थियेटर में शाम 5-7 बजे शोक सभा रखी जाएगी. बता दें, शशि लंबे वक्त से बीमार चल रहे थे. परिवार में दो बेटा और एक बेटी है. पत्नी जेनिफर का पहले ही निधन हो चुका है. शशि के बेटे कुणाल पृथ्वी थियेटर का काम संभालते हैं जबकि दूसरे बेटे करण मशहूर फोटोग्राफर हैं. शशि की बेटी संजना थियेटर सिखाने का काम करती हैं.

शशि कपूर के पार्थिव शरीर को मंगलवार सुबह 10.30 बजे एक एम्बुलेंस के जरिए उनके घर ‘जानकी कुटीर’ लाया गया. अंतिम दर्शन के लिए कुछ देर तक उनका शव पृथ्वी थियेटर में भी रखा गया था. शशि का पार्थिव तिरंगे में लपेटकर श्मशान गृह तक पहुंचा. इस दौरान पुलिस ने सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए थे. करीब 11.45 बजे शशि का पार्थिव शरीर सांताक्रूज के श्मशान गृह पहुंचा. उनके बेटे कुणाल-करण और बेटी संजना के साथ कपूर भतीजे रणधीर कपूर, ऋषि कपूर और रणबीर कपूर समेत परिवार के लोग और रिश्तेदार मौजूद थे.

Source Aajtak.intoday

Leave A Reply

Your email address will not be published.