गले की खराश 1 घंटे में ठीक हो जाएगी, अपनाएं ये चमत्कारी नुस्खा

1,351

मौसम में बदलाव के साथ शरीर में कई परिवर्तन आते हैं। गले में खराश भी ऐसी ही एक समस्या है जो सर्दियों में अक्सर हो जाती है। खराश गले में संक्रमण के कारण होती है और ये संक्रमण वायरस, बैक्टीरिया या फंगल इंफेक्शन के कारण होता है। लेकिन बदलते मौसम का प्रभाव समझकर खराश को आम परेशानी मानना कई बार खतरनाक हो सकता है क्योंकि गले में खराश टॉन्सिल या गले के किसी गंभीर संक्रमण की वजह से भी हो सकता है। खराश होने पर बोलने में तकलीफ होती है और गले में चुभन के साथ खिंचाव सा महसूस होता है। गले में खराश को इन घरेलू नुस्खों द्वारा आसानी से ठीक किया जा सकता है।

गुनगुने पानी के गरारे
गले में खराश की वजह से सांस की झिल्ली की मांसपेशियों में सूजन आ जाती है। इस सूजन को कम करने के लिए और गले के दर्द में राहत के लिए आप गुनगुने पानी में नमक मिलाकर इसका गरारा कर सकते हैं। नमक-पानी का ये गरारा सूजन को तुरंत खत्म करेगा और जल्द ही आपको राहत महसूस होगी। दिन में तीन-चार बार गरारा करने पर खराश ठीक हो जाती है।

अदरक वाली चाय
अदरक में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं साथ ही इसकी तासीर भी गर्म होती है इसलिए ये इंफेक्शन को खत्म करता है और दर्द को खत्म करता है। खराश के लिए आप अदरक, इलायची और काली मिर्च की चाय बना लें और दिन में दो बार पियें। इससे गले के वायरस और बैक्टीरिया खत्म हो जाएंगे और सूजन भी दूर होगी। सर्दियों में इस चाय को पीने से आप ठंड के प्रकोप से भी बचे रहेंगे।

शहद
शहद गले के खराश के लिए अच्छा माना जाता है क्योंकि इसके एंटीबैक्टीरियल गुणों के कारण ये गले में मौजूद वायरस और बैक्टीरिया को खत्म कर देता है। इसके लिए आप डेढ़ कप पानी में कुछ टुकड़े अदरक के मिलाकर उबाल लीजिए और फिर इसे छानकर इसमें एक चम्मच शहद मिला लीजिए। इसे दिन में दो-तीन बार पीने से गले में खराश की समस्या बिल्कुल ठीक हो जाएगी।

लहसुन
लहसुन गुणों की खान है। इसमें भी एंटीसेप्टिक और एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं। लहसुन में एलिसिन होता है जो शरीर में मौजूद हानिकारक वायरस और बैक्टीरिया को खत्म करता है। गले की खराश हो तो सुबह कच्चे लहसुन के छोटे-छोटे टुकड़े करके इसे पानी से निगल लें, खराश ठीक हो जाएगी। इसके अलावा आप लहसुन को सरसों के तेल में भूनकर भी खा सकते हैं। ये सर्दी-जुकाम में भी फायदेमंद है।

खान-पान में बरतें सावधानी
गले में खराश हो तो खान-पान में हमें थोड़ी सावधानी बरतनी चाहिए वर्ना गले में मौजूद वायरस से गले की कई और बीमारियों का खतरा हो जाता है।

  • ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थों का सेवन कीजिए।
  • धूम्रपान और तंबाकू वाले पदार्थों का सेवन बंद कर दीजिए।
  • मिर्च-मसाले वाले भोजन से परहेज करें।
  • ठंडा पानी न पियें और ठंडी चीजें न खाएं।
  • अगर खराश तीन दिन में इन उपायों से न ठीक हो तो डॉक्टर से संपर्क करें क्योंकि ये टॉन्सिल या गले की किसी और संक्रामक बीमारी का भी संकेत हो सकता है।
Source onlymyhealth

Leave A Reply

Your email address will not be published.