सूर्य की तेज़ रौशनी से होने वाली खुजली से बचने के उपाय

91

अल्ट्रावायलेट किरणों के अधिक एक्सपोजर के कारण सन बर्न (sunburn) हो जाता है, इसके कारण त्वचा लाल हो जाती है, उस पर खुजली होने लगती है और वो क्षतिग्रस्त भी हो सकती है। अगर कोई आउटडोर काम करना चाहते हैं तो कोशिश करना चाहिए कि उन्हें सुबह या शाम को करें। अगर सनबर्न से बचना चाहते हैं तो, सुबह 10 बजे से दोपहर 4 बजे तक बाहर न निकलें। सनबर्न के कारण त्वचा में तेज दर्द हो सकता है या त्वचा सनस्क्रीन लोशन के प्रति अत्यधिक संवेदनशील हो जाए, तो पूरी अस्तीन के कपड़े पहनने चाहिए। कुछ उपाय करने से इस स्थिति को रोकने में सहायता मिल सकती है।

धूप में 1 घंटे में तीन गिलास पानी
हाइड्रेटेड रहने के लिए अधिक मात्रा में तरल पदार्थों का सेवन करना चाहिए। जब धूप में रहें, तो हर घंटे में 3 गिलास पानी का सेवन करना चाहिए। कभी-कभी स्पोट्र्स ड्रिंक्स भी इलेक्ट्रोलाइट्स के साथ लें। इससे शरीर में सॉल्ट की जो कमी हुई है उसकी पूर्ति हो जाती है और यह शरीर में फ्ल्यूड को रोककर रखता है। नमक का सेवन कम करना चाहिए।

बारबेक्यू फूड्स लेने से बचिए
मौसमी फल और दही का सेवन करना चाहिए, ये एक अच्छा विकल्प है। बारबेक्यु फूड्स के सेवन से बचना चाहिए, जैसे पोटेटो सलाद और कोलेस्ला, जो खट्टा हो सकता है और पेट खराब कर सकता है। अगर जी मचलाना, चक्कर आना थकान जैसी समस्या हो तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। ठंडक के लिए दो बार शावर लें शरीर को ठंडा रखने के गर्मियों में कम से कम दिन में दो बार नहाना चाहिए। पीने के लिए अपने साथ हमेशा पानी की बोतल रखनी चाहिए।

सनस्क्रीन और कूल कम्प्रेस
झुलसने से बचने के लिए, धूप में निकलने से बीस मिनिट पहले, 30 एसपीएफ या उससे अधिक वाला सनस्क्रीन लगाएं। एक ठंडा गीला टॉवेल या वॉश क्लाथ, सनबर्न से आराम दे सकता है और खुजली को कम कर सकता है।

मॉइस्चराइजर का प्रयोग
सनबर्न (sunburn) से त्वचा में खिंचाव आ जाता है, वो सूखी और खुजली वाली हो जाती है। गर्मियों की ऊष्मा इस स्थिति को और खराब कर देती है। त्वचा को हाइड्रेटेड करने के लिए विटामिन सी और ई युक्त मॉइस्चराइजर का उपयोग करना चाहिए।

एलोवेरा का इस्तेमाल कर सकते हैं।
एलोवेरा, सनबर्न का पारंपरिक उपचार है। इसमें घावों को भरने का प्रभाव भी होता है। एलोवेरा के रस या जेल का इस्तेमाल करें। इसमें खुशबू या अल्कोहल आदि नहीं मिलाना चाहिए। इससे त्वचा में जलन हो सकती है।

तो करें डॉक्टर से तुरंत संपर्क
सनबर्न के कारण अगर बुखार आ गया हो, या शरीर की 20 प्रतिशत त्वचा पर फफोले हो गए हों या अगर चक्कर आ रहे हों तो इसके कारण डिहाइड्रेशन हो सकता है, ऐसी स्थिति में तुरंत डॉक्टर को दिखाना चाहिए।

दूध में भिगोकर रूई के फाहे रखिए
त्वचा पर जहां-जहां सनबर्न हुआ हो, वहां ठंडे दूध में भिगोकर रूई के फाहे रखें, लेकिन ध्यान रहे दूध अधिक चिल्ड नहीं होना चाहिए। साथ ही प्रभावित त्वचा पर परफ्यूम और साबुन लगाने से बचिए।।

नहाने के पानी में खाने का सोडा
नहाने के पानी में एक कप एप्पल सिडर विनेगर मिला लें, ताकि त्वचा का पीएच संतुलन बनाने में सहायता मिल सके, और त्वचा हील हो सके।

हल्दी पूदीने या खीरे का पेस्ट
खीरे में एंटी ऑक्सीडेंट्स होते हैं और इसमें दर्द निवारक गुण होते हैं, इस वजह से यह सनबर्न में बहुत | आराम पहुंचाता है। ठंडे खीरे को मैश करें और पेस्ट को प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं। सनबर्न से प्रभावित क्षेत्र पर हल्दी, पुदीने और दही का मिश्रण लगाने से भी त्वचा को आराम मिलता है।