कार में लिफ्ट देने के बहाने लूट लेती थी डाकू हसीना

लूटकर चलती कार से फेंकने वाले इंटरस्टेट गैंग का पर्दाफाश

91

Crime Branch ने इंटरस्टेट अन्ना गैंग की एक महिला सहित पांच बदमाशों को अरेस्ट किया है। आरोपियों की पहचान गैंग लीडर बिट्ट उर्फ अन्ना, बिट्ट उर्फ राकेश, संदीप, अर्जुन सिह और सुनीता उर्फ माया के रूप में हुई। गैंग में शामिल बदमाश अपनी महिला साथी को डाकू हसीना कहकर पुकारते थे।

पुलिस ने इनके पास से वारदात में इस्तेमाल की गई लूटी गई कार, स्कूटी और मोबाइल बरामद किया। यह गैंग दर्जनों वारदातों में शामिल रहा है।

हाइवे और बस अड्डे के आसपास अक्सर लोग कार के अंदर महिला और हैंडीकैप शख्स को देखकर आसानी से इस गैंग के झांसे में आ जाते थे। लिफ्ट देने के बहाने यह गैंग सवारी से कैश, मोबाइल और अन्य कीमती सामान लूटने के बाद पीड़ित को चलती कार से धक्का देकर फरार हो जाते थे।

Joint CP (क्राइम ब्रांच) आलोक कुमार ने बताया कि सब इंस्पेक्टर संतोष, सिपाही अमित और अनिल को इंटरस्टेट गैंग के बारे में सूचना मिली थी। छानबीन शुरू की गई तो पता चला कि गैंग का एक्टिव मेंबर एमसीडी कॉलोनी, अवंतिका आने वाला है। सूचना के आधार पर डीसीपी राजेश देव की देखरेख में एसीपी संदीप लांबा और इंस्पेक्टर पंकज अरोड़ा सहित अन्य पुलिस वालों की टीम बनाई गई। ट्रैप लगाकर अमित को अरेस्ट कर लिया गया, उसके पास से चोरी की स्कूटी और लूटा गया मोबाइल फोन बरामद हुए। पूछताछ में उसने बताया कि वह कुख्यात अन्ना गैंग का सदस्य है। उससे मिली जानकारी के आधार पर Gang Leader और महिला सहित चार अन्य बदमाशों को भी अरेस्ट कर लिया।

ये भी पढ़े: मनपसंद लड़की से शादी करने से मना किया तो भाभी के साथ किया ये काम

मर्डर केस में भी शामिल था अन्ना गैंग
पूछताछ में पता चला कि यह गैंग एक मर्डर केस में भी शामिल था। मर्डर केस साहिबाबाद यूपी में दर्ज हुआ था। तफ्तीश में पता चला कि उस शख्स को इन बदमाशों ने आनंद विहार बस अड्डे से मयूर विहार के लिए लिफ्ट दिया था, लेकिन वे उसे दूसरे रूट पर ले गए। कार में बैठते ही बदमाशों ने पीड़ित के साथ लूटपाट शुरू कर दी थी। एटीएम कार्ड भी लूट लिया और पिन नंबर पूछने के लिए बुरी तरह से पीटा था। फिर हिंडन एयरपोर्ट के पास वाले एटीएम से कैश निकाला था। नाक, मुंह और कान से ब्लड आने की वजह से वह बेहोश हो गए थे। बदमाश उन्हें चलती कार से साहिबाबाद इलाके में फेंककर फरार हो गए थे। पुलिस ने बताया कि गैंग लीडर बिट्ट उर्फ अन्ना मूलरूप से तमिलनाडु का रहने वाला है।

क्राइम ब्रांच की गिरफ्त में अन्ना गैंग के बदमाश:

  • गैंग में शामिल बदमाश अपनी महिला साथी को डाकू हसीना कहकर पुकारते थे
  • हाइवे और बस अड्डे के आसपास अक्सर लोग कार के अंदर महिला और हैंडीकैप शख्स को देखकर झांसे में आ जाते थे
  • लिफ्ट देने के बहाने यह गैंग सवारी से कैश, मोबाइल व कीमती सामान लूट लेता था
  • दर्जनों वारदातों में शामिल रहा है यह गैंग
  • गैंग लीडर बिट्ट उर्फ अन्ना मूलरूप से तमिलनाडु का रहने वाला है।