आखिर क्यों बनती है पत्नियां बेवफा और चरित्रहीन, जानें वजह

216

पति-पत्नी का रिश्ता प्यार और भरोसे की डोर पर टिका होता हैं। और रहीम जी ने अपने दोहे में पहले ही कहा हैं कि जो प्रेम की ये डोर है किन्हीं भी कारणों से नहीं टूटनी चाहिए, क्योंकि वापस जुडती है तब उसमें गाँठ पड जाती हैं।

लेकिन अक्सर रिश्तों में इंसान धोखा खा जाता है और रिश्ते की डोर ढीली पद जाती हैं। हमेशा माना जाता है कि शादीशुदा जिंदगी में पुरुष ही धोखा देते हैं, लेकिन ऐसा नहीं हैं महिलाऐं भी रिश्तों में धोखा देती हैं। एक सर्वे में इसके पीछे के कुछ कारणों का पता चला है कि किन वजहों से पत्नी देती है पति को धोखा। तो आइये जानते हैं उन वजहों के बारे में।

* अक्सर होने वाली घरेलू हिंसा :
शादी एक पवित्र बंधन है शादी के बाद एक नए जीवन की शुरूआत होती है जहाँ लोग नया घर बसाते हैं लेकिन अगर शादी के बाद घर में रोज ही झगड़े हो रहे होते हैं और हिंसा होती हैं तो ऐसे में बड़ी आसानी से कोई और जीवन में आ जाता है। खास तौर पर घरेलु हिंसा का सबसे ज्यादा असर महिलाओं पर पडता है ऐसे में उनका परिवार से विश्वास उठ जाता है और वे किसी और पार्टनर की तलाश मे रहती है जो उसकी तकलीफ महसूस कर सके।

* शारीरक बनावट में कमी निकलने पर :
कई बार ऐसा होता है कि महिलाओं को उनके पुरुष पार्टनर से उनकी शारीरिक बनावट को लेकर बातें सुननी पड़ती हैं। जैसे तुम्हारा फिगर उसकी तरह नहीं है। तुम्हारा रंग दबा हुआ है और भी बहुत कुछ। ये बातें महिलाओं को पसंद नहीं आती हैं और वे खुद को साबित करने के लिए दूसरे पुरुषों की ओर मुड़ जाती हैं।

* ओपन सोसाइटी :
आधुनिकता की वजह से समाज में आ रहे बदलाव यानी खुलेपन की कारण भी पति अपनी पत्नी को धोखा देने लगता है।। दरअसल, नयी आब-ओ-हवा में समाज में खुलापन तेज़ी से आ रहा है और इसकी वजह से लोगों की मानसिकता भी खुलती जा रही है और वे शादी के बाहर संबंध बनाने में अब कम हिचकते हैं। इस मामले में महिलाएं भी बहुत बोल्ड हो गई हैं। ज़ाहिर है ऐसे रिश्ते की बुनियाद धोखे पर ही रखी जाती है।

* सेक्स लाइफ से खुश ना होना :
अगर कोई भी मर्द या महिला शादी के बाद अपनी सेक्स लाइफ से संतुष्ट नहीं हो पा रहे होते हैं तो ऐसे में उनके किसी और के साथ अफेयर होने की संभावना ज्यादा बढ़ जाती हैं। सेक्स की इनकी यह भूख यहाँ जब नहीं पूरी हो पाती है। कई बार महिला अपने पुरूष साथी से सेक्स के दौरान असंतुष्ट रहती है। उनकी यह असंतुष्टि महिलाओं को धोखा देने और बाहर की ओर जाने पर विविश करती है और वह जल्द ही दूसरे पुरूषों के करीब आने लगती है।

* आत्म निर्भरता :
जब कोई महिला किसी पुरुष पर निर्भर होती है तो उसके लिए अपने पार्टनर के साथ रहना एक मजबूरी बन जाती है। पर ज्यादातर जो महिलाएं आत्मनिर्भर होती हैं वे अपने स्वाभिमान को सबसे ऊपर रखती हैं। जब भी उन्हें अपने स्वाभिमान पर खतरा मंडराता नजर आता है तो वे पार्टनर को छोड़ने में वक्त नहीं लगातीं।

* आपसी संवाद का अभाव :
पति और पत्नी के बीच नियमित रुप से संवाद कई समस्याओं को पैदा होने से रोक देता है लेकिन देखा गया है कि जिस दंपत्ति में आपसी संवाद नहीं होता या बहुत कम होता है वहां भी धोखे की संभावना बढ़ जाती है। संवाद न होने से दोनों में कई बार ग़लतफ़हमी हो जाती है जो फिर कड़वाहट में बदल जाती है।