टेक्नोलॉजी के इस युग में बनाएं रखे अपनी यादाश्त को बेहतर, बस इन 6 स्टेप्स द्वारा

197

आज इन्टरनेट इंसान का शोंक ही नही बल्कि जरूरत भी बन गया हैं, और इस जरूरत कि वजह से इंसान का Physically  और Mentally वर्कआउट बहुत कम हो गया हैं जिसका सीधा असर अपने दिमाग और इसकी यादाशत पर जाता है |

हम यहाँ आपको यादाशत की शक्ति को बनाये रखने के लिए कुछ टिप्स दे रहें हैं :

पालक बचाएगी डिमेंशिया से: पालक और अन्य हरी पत्तेदार सब्जियों में विटामिन ई, विटामिन के और फोलेट तत्व होते हैं, जो डिमेंशिया से बचाते हैं। मूड दुरूस्त रखने, थकान दूर करने, कन्फ्यूजन जैसी स्थिति में भी एक कटोरी पालक दाल, सलाद या सब्जी के रूप में ले सकते हैं। इसे नियमित रूप से या फिर हफ्ते में दो-तीन बार खा सकते हैं।

कॉफी बढ़ाए एकाग्रता क्षमता: कॉफी में मौजूद कैफीन में एंटीऑक्सीडेंट तत्व होते हैं, जो दिमाग को स्वस्थ रखने और एकाग्र क्षमता को बढ़ाने में मददगार हैं। यह मूड को बेहतर बनाने, ऊर्जा बढ़ाने में भी कारगर है। दिनभर में सिर्फ एक कप कॉफी या चाय पीनी चाहिए। कॉफी को ब्लैक कॉफी के रूप में भी ले सकते हैं।

फूलगोभी करता दिमाग को मजबूत: ब्रॉकोली और फूलगोभी में मौजूद कोलाइन नामक तत्व दिमाग को मज़बूत और याददाश्त को तेज करता है। इसमें विटामिन बी 3, बी 6, मैग्नीशियम और जिंक भी होते हैं, जो मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर रखते हैं। इन्हें सलाद में भी ले सकते हैं। नियमित रूप से 50-100 ग्राम खाना चाहिए।

चने बढाते याददाश्त: देसी चने या काबुली चने में फोलेट यानी फॉलिक एसिड पाया जाता है। इन्हें नियमित रूप से खाने से याददाश्त तेज होती है। यह सीखने की क्षमता को भी बढ़ाते हैं। रोजाना आधी कटोरी चने खाने चाहिए।

अखरोट बढ़ाता सीखने की क्षमता: अखरोट और अन्य नट्स जैसे काजू, बादाम, पिस्ता आदि में विटामिन ई पाया जाता है, जो सीखने की क्षमता को विकसित करने में मददगार होता है। एक मुठ्ठी बादाम खाना भी अच्छा है। इन्हें भिगोकर खा सकते हैं।

दालचीनी ब्रेन सेल्स को स्थिर करती है: इसमें मौजूद टो प्रोटीन मस्तिष्क की कोशिकाओं को दुरूस्त करता है, दिमाग को सक्रिय करता है तथा ध्यान केन्द्रित करने में मददगार होता है।